स्टूडेंट से शांत करवाई अपनी अन्तर्वासना

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by 007, Jan 9, 2018.

  1. 007

    007 Administrator Staff Member

    Joined:
    Aug 28, 2013
    Messages:
    136,908
    Likes Received:
    2,133
    http://raredesi.com स्टूडेंट से शांत करवाई अपनी अन्तर्वासना

    Student se shaant karwai apni antarvasna :

    loading...

    antarvasna stories हेल्लो दोस्तों मेरा नाम आरती है | मैं आज पहली बार सेक्सी कहानी के पाठको के लिए अपनी कहानी को लेकर आई हूँ | दोस्तों मुझे सेक्सी कहानी पढना बहुत पसंद है और मैं सेक्सी कहानी काफी महीनो से पढ़ती आ रही हूँ | मैं जब कहानी पढ़ती हूँ तो मेरी चूत गीली हो जाती है और मैं चुदने के लिए तरसने लगती हूँ | मैं जो आज कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रही हूँ ये मेरी सच्ची कहानी है और मेरे जीवन की घटना | मैं जो कहानी पेश कर रही हूँ इस कहानी में मैंने अपने स्टूडेंट के साथ अपनी चुदाई करके चूत को सांत किया था | मैं कहानी को शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देती हूँ | मैं रहने वाली मुम्बई के पास एक छोटे से शहर की हूँ | मेरी उम्र 29 साल है और मेरा रंग दूध की तरह साफ है | मेरी हाईट भी ठीक है जिससे मेरा भरा हुआ बदन बहुत सेक्सी लगता है | मेरे बड़े बड़े बूब्स 36 इंच के हैं जो एकदम गेंद की तरह गोल हैं | मेरी गांड ज्यादा बड़ी तो नही है पर चौड़ी है जिसको देखकर बूढ़े आदमी की जवानी लोट आये | मैं बहुत सेक्सी हूँ इसलिए मेरे कॉलेज के टीचर और कुछ लड़के भी लाइन मारा करके थे लेकिन मैं किसी को भाव नही देती थी | दोस्तों मैं आप सभी लोगो से उम्मीद करती हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आएगी और इस कहानी को पढने में मज़ा तो जरुर आएगा |

    ये कहानी मेरी शादी के पहले की है जब मैं एक कॉलेज में टीचर थी | अब मेरी शादी हो गयी है और मेरे पति नाम विकाश है | वो दिखने में बहुत सुन्दर है और मेरी चुदाई की इच्छा को पूरी करते हैं | मैं उस टाइम जिस कॉलेज में पढती थी उस कॉलेज में बहुत टीचर और लड़के थे जिसमे से कुछ टीचर मेरी चुदाई करना चाहते थे पर मैं किसी के हाथ नही आई थी | फिर कुछ दिनों के बाद कॉलेज में नये एडमिशन होने लगे तो बहुत से लडको ने एडमिशन लिया | उसी टाइम एक लड़के ने मेरी क्लास में एडमिशन लिया था | उस लकड़े का नाम रोहन था और वो दिखने में मेरी तरह ही साफ था | उसकी बॉडी बहुत मस्त थी और बॉडी के कट अगल ही देखा करते थे | रोहन किसी हीरो से कम नही लगता था | दोस्तों मैं आप लोगो को बता दूँ की मैं उसको पहली बार देखते ही लट्टू हो गयी थी | मेरा इससे पहले एक बॉयफ्रेंड था जो की यहाँ नही रहता था इसलिए मैं सोचा की रोहन को पटा लूँ | मैं उस पर पूरी तरह से मारने लगी थी और जब मैं अपनी क्लास में आती तो उसे ही देखती रहेती थी पर वो मेरी तरफ देखता भी नही था | फिर मेरी किस्मत ने साथ दिया और रोहन मेरे पास कोचिंग करने के लिए आने लगा | वो सब लडको के साथ आने लगा तो मैं रोहन से बात करने के लिए सोच रही थी की कैसे रोहन से बात करूँ | तब वो रोज ही कोचिंग के लिए आता था और सब लडको के साथ चला जाता था | मैंने एक दिन सोचा और जब वो जाने लगा तो मैंने उसे रोक लिया और कहा मेरी स्कूटी ले लो और आगे से ये सामन ला दो | वो मुझे बहुत सेक्सी नजरो से देखते हुए चला गया | वो कुछ देर बाद आया तो मैंने जो उससे मंगाया था वो देखकर जाने लगा तो मैंने उससे कहा रोहन चाय पी लो फिर चले जाना |

    जब मैं और रोहन एक साथ चाय पीने लगे तो मैं उससे घुर घुर कर देख रही थी और वो मुझे घुर रहा था | तब मैंने उससे पूछ ही लिया की इतना घुर कर क्या देख रहे हो तो उसने कहा कुछ नही आप बहुत सुन्दर लग रही हो | उसके मुंह से ये बात सुनकर मुझे बहुत अच्छा लगा और मैं उसके पास जाकर बैठ गयी | मैं उसके पास बैठ कर बाते करने लगी | जब मैं उससे बाते करने लगी तो वो मुझे बहुत चकित नज़रो से देख रहा था | मैं उससे कुछ देर बाते करने के बात उसके हाथ को अपने हाथ में पकड लिया और अपने दिल की बात बता दी | वो मेरे मुंह से ये बाते सुनकर चौंक गया और कुछ देर बाद हाँ बोला तो मैंने उसके माथे पर एक किस की फिर वो चला गया | उस दिन के बाद मैं उससे बाते करने लगी और अब वो कोचिंग से पहले ही आज जाता और हम दोनों एक साथ बैठ कर चाय पीते | एक दिन की बात है जब वो मेरे पास बैठ कर चाय पी रहा था तो उसने मुझे अपनी बाँहों में भर लिया और मेरी गुलाबी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | जब उसने मेरी होठो पर अपनी होठो को रख दिया तो मैं उसकी होठो को चूसने लगी और वो मेरी होठो को चूसने लगा | वो मेरी रसीली होठो को चूसने के साथ मेरे बूब्स के दबाने लगा | वो मेरे बूब्स को दबाने के साथ मेरी होठो को चूस रहा था जिससे मैं गर्म हो गयी और तेज तेज सांसे लेने लगी |

    फिर रोहन ने मेरे कपडे निकाल दिए और मेरे दोनों दूध को ब्रा के ऊपर से दबाते हुए मुंह में रख कर चूसने लगा | मैं जोर जोर से अह अह हाँ हाँ अह उई हाँ उई सी.. सी उई सी उई सी हाँ माँ माँ माँ माँ उई.. की आवाजे निकलने लगी | वो मेरे बूब्स को चूसने के साथ मेरी चूत में अपनी ऊँगली घुसा दी जिससे मेरे जिस्म में आग लग गयी और मैं बेकाबू हो गयी | तब मैं उसके लंड को पैन्ट के ऊपर से सहलाने लगी | हम दोनों गर्म हो चुके थे तभी बाहर से बच्चो की आवाज आई जो कोचिंग करने आते थे | तब मैंने अपने कपडे पहने और रोहन से कहा तुम अन्दर ही रहना | फिर मैं उन लडको को कुछ देर पढ़ने के बाद छोड़ दिया और कहा की मेरे सर में दर्द हो रही है तुम सब कल आओ | मेरे अन्दर चुदाई की आग लगी थी इसलिए मैं उन सब लडको को छोड़ दिया | तब मैं अन्दर आयी और रोहन के साथ बेड पर लेट गयी | रोहन के साथ लेट कर एक दूसरी की होठो को चूसने लगे | वो मेरी होठो को चूस रहा था और मैं उसकी होठो को मुंह में रख कर जोर जोर से चूस रही थी | वो मेरी होठो को चूसने के साथ मेरे बड़े और चिकने बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | जब वो मेरे बूब्स को दबाने लगा तो मेरी सांसे तेज हो गयी | जब मेरी सांसे तेज हो गयी तो वो मेरी सांसो को सुनकर और जोश में आ गया | फिर मेरे कपडे निकाल दिए जिससे मैं ब्रा और पैंटी में आ गयी | तब रोहन ने मेरी ब्रा को खोल दिया और मेरे एक दूध को हाथ में पकड कर दबाने लगा | वो मेरे एक दूध को हाथ में पकड कर मसलने लगा और दुसरे दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा | वो मेरे बूब्स चूसने के साथ मेरी चूत में ऊँगली घुसा दी जिससे मेरे मुंह से निकलने वाली सांसे सिसकियों में बदल गयी | वो मेरी चूत में ऊँगली को जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए मेरी चूत के दाने को होठो से पकड कर बाहर की और खीच खीच कर चूसने लगा |

    वो मेरी चूत में जितने जोर से ऊँगली को अन्दर बाहर करते मैं उतनी ही जोर से आह अह अह उई उई हाँ उई हाँ... सी उई सी उई माँ माँ माँ उई उई माँ सी सी सी उई..... की आवाजे निकल रही थी | वो मेरी आवाजे सुनकर जोश में आ गया और अपने कपडे निकाल कर अपने 7 इंच लम्बे लंड को मेरे हाथ में पकड दिया | मैं उसके लंड को आगे पीछे करती हुई मुंह में रख कर चूसने लगी | मैं उसके लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी तो वो मेरे बालो को पकड कर मेरे मुंह में धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा | वो अपने लंड को ऐसे ही कुछ देर तक चुसाने के बाद मेरे मुंह से लंड को निकाल कर मेरी चूत के चेंद पर रख दिया | मेरी चूत गीली होने की वजह से उसका लंड मेरी चूत में आराम से घुस गया | उसका लंड मेरी चूत में जैसे ही घुसा तो मेरे मुंह से एक जोरदार दर्द भरी आवाज निकल गयी | वो मेरी चूत में कुछ देर तक तो धीरे धीरे धक्का मारता रहा | फिर उसने मेरी चूत में धक्को की स्पीड तेज कर दी जिससे मेरे मुंह से अहं हाँ अह उई उई उई.. सी सी सी उई उई ई उई ई.. अह सी माँ माँ मा उई.. आवाजे करती हुई चुदने लगी | वो मेरी पतली कमर को पकड कर मेरे चूत में जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करने लगा | वो मेरी चूत में जितने जोर से धक्के मारता मेरे बड़े बड़े बूब्स उतने ही जोर जोर से हिलते | रोहन मेरे हिलते बूब्स को देखकर धक्को की स्पीड और तेज कर दी जिससे धक्को की आवाज कमरे में गूंजने लगी साथ में मैं सिसकियाँ पर सिसकियाँ लेने लगी | | वो मुझे ऐसे ही कुछ देर तक चोदता रहा जिससे मेरी चूत से पानी निकल गया और मैं झड़ गयी | मेरे झड़ने के ठीक 5 मिनट बाद वो भी झड़ गया |

    फिर मैंने उसके लंड को चाट चाट कर साफ किया | तब उसने अपने कपडे पहन लिए और मैंने अपने कपडे पहन लिये | तब वो अपने घर चला गया | उस चुदाई के बाद मैं उससे और कई बार चुदी फिर मेरी शादी हो गयी | जबसे मेरी शादी हो गयी है तब से मैं उससे नही मिली | धन्यवाद.....
     
Loading...

Share This Page