मेरा जीवन. कोरा काग़ज़. लिख दिया नाम मैंने तेरा - 39

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by 007, Jan 8, 2017.

  1. 007

    007 Administrator Staff Member

    Joined:
    Aug 28, 2013
    Messages:
    133,303
    Likes Received:
    2,130
    http://raredesi.com This story is part of 0 in the series

    थोड़ा मायूस लग रहा था..अपने आप में कुछ खोजने की कोशिश कर रहा था, शायद अपने पुराने दिन...

    तभी वहां वो लड़की, जिस से हीतू की कभी कबाड़ ही हेलो हो जाती थी...उधर जॉगिंग करने आई तो, हीतू को यू मायूस देख कर उसके पास आ कर बैठ गयी...लेकिन हीतू ने उसे ही हेलो तो दूर की बात उसकी तरफ देखा भी नहीं..

    लड़की: हेलो मिस्टर...कब से बोल रही हूँ, कुछ सुनाई नहीं देता क्या..

    लड़की की यू आवाज़ सुन कर हीतू अचानक ही घबरा गया.

    हीतू: आप.. आपा. आप. बोलिए.

    लड़की: कब से आवाज़ दे रही हूँ, कहा खो रहे हो..गर्लफ्रेंड से झगड़ा हो गया क्या.

    हीतू: नहीं तो..

    लड़की: तो फिर क्या टेन्शन है..

    हीतू: वो तुम्हें तो पता ही है, हमारी बिल्डिंग इल्लीगल है.

    लड़की: ओह हां..टेन्शन वाली बात तो है..

    हीतू: बस कल घर का समान दूसरी जगह शिफ्ट कर रहा हूँ, उस ही की टेन्शन है थोड़ी..

    लड़की: तो अब न्यू अपार्टमेंट कहा लिया है..

    हीतू: इतने पैसे कहा है, पास वाली कॉलोनी में खोली ली है एक..पता नहीं उसका किराया भी चुका पाऊँगा या नहीं..

    लड़की: श तो ये टेन्शन है... लेकिन तुम तो अच्छे ख़ासे परिवार से लगते हो..फिर ये हालत कैसे..

    हीतू: बस कुछ हालत थे, कुछ अपने गलत डिसिशन्स.. बायें थे वे आपने अपना नाम नहीं बताया..

    लड़की: श.. ई आम सो सॉरी.मैं पूजा.. पूजा भट्ट.यही पास वाली बिल्डिंग में अपार्टमेंट में किराए पर रहती हूँ.तुम.

    हीतू: मैं हितेश सोनी.प्यार से सब हीतू बुलाते है.

    पूजा: (कुछ देर सोच कर) हीतू जी अगर तुम बुरा ना मानो तो एक बात बोलू..

    हीतू : हां बोलो.

    पूजा: देखो गलत मत सोचना, हमें मिले अभी सिर्फ़ 5 मिनट ही हुए है, लेकिन..

    हीतू: बोलो भी.. लेकिन क्या.

    पूजा: क्या तुम मेरे साथ मेरा अपार्टमेंट शेयर कर सकते हो.. (पूजा एक सांस में ही ये सब बोल गयी)

    हीतू: (चोकते हुए) क्या बकवास कर रही है आप...अभी मैं आपके बारे में कुछ जनता भी नहीं, ओर आप अपार्टमेंट शेयर करने की बात कर रही हो.

    पूजा: देखो मेरी फाइनान्षियल पोज़िशन भी बिलकुल तुम्हारी जैसी ही है..6 महीनों से मैंने किराया नहीं दिया..इस वजह से अपार्टमेंट ओनर मुझे यहां से चोद कर जाने भी नहीं दे रहे.ओर डेली मुझे किराए के लिए डरते भी रहते है, कई बार तो वो मेरे साथ गंदी हरकत भी करने की कोशिश कर चुके है, मैं एक लचर लड़की बन कर रही गयी हूँ, मैं इस डर से ये बात किसी को कह भी नहीं सकती क्योंकि वो यहां के बहुत बारे डॉन है..अब तुम ही बताओ मैं क्या करूँ..

    ये सब कहते कहते पूजा की आंखों से आँसू बहने लगे..वो रोने लगी थी अब तक..ओर मैं बस चुप चाप किसी पत्थर की तरह उसे देखे जा रहा था..

    पूजा: अब तुम ही बताओ मैं कहा जाओ..

    मज़ेदार सेक्स कहानियाँ

    September 4, 2016June 12, 2016December 7, 2015January 20, 2016March 13, 2016

    हीतू: मैं भी क्या बताऊं..यार.. तुम ठहरी एक लड़की.मैं तुम्हारे साथ रूम कैसे शेयर कर सकता हूँ..लोग क्या कहेंगे..

    पूजा: लोग जो भी कहेंगे वो मुझे कहेंगे..वैसे भी यहां कोन सी मेरी इज्जत है..वो मेरा मकान मलिक जब चाहे तक मुझे सेक्स सुअल उसे कर लेता है, ओर तो ओर कॉलोनी के लोग भी मुझे गंदी नज़रो से देखते है... अब तुम ही बताओ...मैं क्या कर सकती हूँ..

    हीतू: तो तुम पुलिस में रिपोर्ट क्यों नहीं करवाती...

    पूजा: क्या बताऊं तुम्हें...चलो रहने दो..तुम क्या समझोगे मेरी प्राब्लम..मुझे लगा तुम एक अच्छे इंसान हो...लेकिन.. चलो जाने दो..

    हीतू: लेकिन तुम एक बार पुलिस..

    हीतू कुछ ओर कह पता इस से पहले ही पूजा रोते हुए कहने लगी.

    पूजा: तुम्हें क्या लगता है मैंने पुलिस रिपोर्ट नहीं की..उस डॉन के सामने पुलिस की एक नहीं चलती.. खैर मुझे अब चलना चाहिए..
    हीतू: लेकिन तुम एक बार पुलिस..

    हीतू कुछ ओर कह पता इस से पहले ही पूजा रोते हुए कहने लगी.

    पूजा: तुम्हें क्या लगता है मैंने पुलिस रिपोर्ट नहीं की..उस डॉन के सामने पुलिस की एक नहीं चलती.. खैर मुझे अब चलना चाहिए..

    हीतू: (कुछ सोच कर) रुको..

    पूजा जो अब तक वहां से खड़ी हो कर कुछ दूर चली गयी थी, वो हीतू के रोकने से वापस उसके पास आ कर बैठ गयी..

    हीतू : जैसा तुमने कहा, की वो तुम्हारे साथ बदतमीज़ी करते है, तो मेरे तुम्हारे साथ रहने से क्या हो जाएगा...वैसे भी तुमने बताया की वो मुंबई के बहुत बारे गुंडे है...

    पूजा: हां लेकिन मर्द के साथ रहने भर से दुनिया का मुंह तो बंद हो जाएगा... ओर वैसे भी मैं एक स्लट हूँ, तो मुझे उसकी बदतमीज़ी का इतना बुरा नहीं लगता.. जितना कॉलोनी वालो की जाली कटी सुन ने से लगता है..

    पूजा की बात सुन कर हीतू बिलकुल शॉक्ड हो जाता है...लेकिन कुछ देर सोचने के बाद वो पूजा को उसके घर रहने के लिए हां कह देता है..ओर वहां से अपने अपार्टमेंट में आ जाता है, साथ ही वो उस खोली वाले को कॉल कर के कह देता है की वो वहां रहने नहीं आएगा..

    हीतू घर आ कर अपने लिए खाना बनता है, और फिर कहा कर बाद पर आ कर लेट जाता है...आज उसने खाना थोड़ी जल्दी कहा लिया था, शायद अभी 9:00 ही बजे होंगे सो थोड़ी देर सोशल नेटवर्किंग साइट्स चला कर अपना टाइम पास करने लगा...

    लेकिन रही रही कर उसके मान में एक ही ख्याल घूम रहा था, क्या उसने पूजा को हां कह कर कुछ गलत तो नहीं कर दिया...नहीं नहीं..मैंने कुछ गलत नहीं किया...
    मैं उसे अपने हिस्से का किराया दे दूँगा..ओर वैसे भी मुझे क्या लेना देना वो क्या करती है क्या नहीं करती..इस चक्कर में उसका भला भी हो जाएगा..मैंने जो भी किया सही किया है..कह दूँगा उसे की अपने क्लाइंट्स घर पर मत लाना.ओर क्या. वैसे भी मैं तो पूरे दिन ऑफिस ही रहने वाला हूँ...

    ये सब सोचते सोचते हीतू को नींद आ जाती है, सुबह..
     
Loading...

Share This Page