फ्रेंड्स के साथ होली खेली

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by 007, Jan 8, 2017.

  1. 007

    007 Administrator Staff Member

    Joined:
    Aug 28, 2013
    Messages:
    126,222
    Likes Received:
    2,117
    http://raredesi.com हाय फ्रेंड्स में अपनी एकदम नयी स्टोरी लेकर आया हु. फ्रेंड्स मुझे जरुर बताना की आप को यह केसी लगी. मेरा नाम निहारिका हे. में अपने जीजू के साथ सेक्स करने के बाद में अपने घर पर वापिस आ गयी. और मुझे अब सेक्स के बिना रहा नही जा रहा था.

    तो में अब सेक्स के लिए बहोत तडपती रहती थी, फीर हमारे घर की बिल्डिंग में ऊपर के फ्लेट में एक फेमिली रहने को आई. उस फेमिली में एक लड़का था जो दिखने में बहोत ही हेंडसम था. एकदम कसरती बोडी थी उसकी. वह जब भी निचे की और जाता था तब वह मुझे ही देखता रहता था.

    में भी उसकी तरफ देखती रहती थी. ऐसे ही रोज एक दुसरे को देखते थे. एक दिन उसने मुझे स्माइल दी तो मैने भी उसे स्माइल दी. फिर हम एक दुसरे को रोज स्माइल देने लगे और यह सिलसिला रोज चल रहा था. एक दिन में टेरेस पर खड़ी थी तो वह भी वहां पर आ गया और वह मेरे साथ बात करने लगा.

    उसने मेरा नाम पूछा तो मैने भी उसका नाम पूछा और उसने अपना नाम बताया राज. फिर उसने मेरे से फ्रेंडशिप के लिए बोला तो मैने उसे हा कर दी. तो वह हा सुन कर एकदम से खुश हो गया. फिर हम एक दुसरे से फोन पर भी बाते करने लगे थे. धीरे धीरे हमारी हमारी फ्रेंडशिप लवशिप में बदलने लगी, फिर हम एक दुसरे से बहोत प्यार करने लगे थे.

    एक दिन टेरेस पर राज ने मेरे से किस मागी तो मैने भी हां बोल दिया तो उसने मेरे दोनों गाल पकड़ कर मेरे लिप्स को अपने लिप्स पर रख दिया और किस करने लग गया. फिर उसने मुझे किस करते करते मेरे बूब्स को दबा दिया और मुझे भी बहोत मजा आ रहा था. फिर एक दिन राज के घर पर कोई नही था तो राज ने मुझे अपने घर पर बुलाया. में गई तो राज ने मुझे सेक्स के लिए पुछ लिया.

    मेंने भी थोडा सोचने का नाटक कर के हां कर दी तो राज मुझे किस करने लगा और मेंरे बूब्स को दबाने लगा. फिर उसने मुझे अपना लंड चुसाया. उस टाइम मैने राज का लंड पहली बार देखा था वह बहोत लंबा और मोटा था. मेंने राज के लंड को चूसा फिर राज ने मेरे साथ सेक्स किया और में अपने घर पर वापस आ गयी. फिर जब हमें मोका मिलता था तब तब राज मुझे लंड का मजा दे देता था.

    फिर हम हमेशा सेक्स करने लगे. फिर जब होली का दिन आया तो राज बोला की तुम होली खेलोगी ना? तो मैने हा बोल दिया. तो उसने बोला की तुम मेरे फ्रेंड के साथ होली खेलने के लिए मेरे साथ चलना, मैने कहा की ठीक हे.

    होली के दिन सुबह उठकर मैं रेडी हो गई होली खेलने के लिए. मैंने मोम को थोड़ा रंग लगाया उन्हें तो पहले से ही पापा ने रंग लगा दिया था फिर मैं मॉम को बोली की मैं राज के साथ होली खेलने जा रही हूं, माँ ने कहा ठीक है.

    फिर मैं राज के घर गई तो राज की मां को रंग लगाया फिर आज को लगाने उसके रूम में गई तो राज कपड़े पहन रहा था तो मैंने जाकर राज के फेस पर रंग लगाया तो राज ने कहा रुको थोड़ी देर फिर मैं बताता हूं. तब राज ने मुझे पकड़ कर मेरी हाथ मेरे ही मुंह पर रगड़ दिए. फिर राज ने कहा आई लव यू निहारिका. में बोली आई लव यू राज.

    फिर आज मुझे पकड़कर अपने लिप्स मेरे लिप्स पर रख दिए और बूब्स दबाने लगा. में आः अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह आह्ह येस्स्स्स करने लगी. मुझे पता था कि राज मुझे सेक्स करेगा इसलिए मैंने ब्रा नहीं पहनी थी तो मेरे टी शर्ट के ऊपर से ही राज बूब्स प्रेस करने लगा, तो मुझे रहा नहीं गया. मैंने राज का लंड पकड़ लिया तो राज ने कहा यहां नहीं जान बाहर चलते हैं क्योंकि यहां सब को पता चल जाएगा तो मैंने भी कहा ओके.

    राज ने फिर से थोड़ा रंग लेकर मेरे बूब्स पर लगा दिया और पूरा कर दिया और फिर हम बाहर आ गए फिर मैं और राज बाइक से बाहर गए उनके फ्रेंड से मिलने वहां उनकी बहुत सारे फ्रेंड थे. और वहां पर गर्ल्स भी थी. सब रंग में रंगे हुए थे हम वहां गए तो सब ने हमें खूब रंग लगाया मेरे को खूब लगाया. मैंने हाफ जींस की चड्डी पहनी हुई थी, तो मेरे पूरी जांघ खुली थी. वह भी पूरी रंग गई फिर सब ने खूब रंग खेला कुछ लड़कों ने मेरे बूब्स भी प्रेस कर दिए.

    और कुछ ने टी शर्ट के अंदर हाथ डाल कर भी रंग लगाया मैं पूरी रंग गई थी मैं पहचान में भी नहीं आ रही थी. तब उनके एक फ्रेंड ने मेरे फेस पर काला रंग लगा दिया. मेरा पूरा फेस काला हो गया. फिर सब ने खूब एंजॉय किया फिर मैं और राज वहां से चले आए तो वह मुझे लेकर एक घर में ले गया वहां पर कोई नहीं था सिर्फ हम दोनों थे.

    वहां जाकर आईने में मैंने अपना फेस देखा तो पूरा काला था मैंने कहा राज यह क्या है? तो वह बोले कि बुरा न मानो होली है. फिर थोड़ा सुखा रंग मेरे बाल में डाल दिया और फिर मेरे कपड़े उतारने लगा. राज ने टी शर्ट और केप्री उतारी मैं पूरी की पूरी रंग गई थी. फिर मैंने राज के कपड़े उतारे तो वह भी रंग ही रंग थे.

    राज ने मेरे लिप्स पर लिप्स रख कर किस करने लगे और प्रेस करने लगे. फिर मेरे बूब्स को मुंह में डाल कर चूसने लगे. मेरे बूब्स पूरे रंग गए थे, तो राज का मुह भी रंग वाला हो गया. फिर थोड़ी देर के बाद राज ने अपना लंड मेरे मुंह में डाल दिया मैं मुंह में नही ले रही थी तो उसने जबरदस्ती मुंह में डाल दिया और फिर मेरे बाल पकड़ कर चुसाने लगा.

    फिर थोडा रंग मेरे मुंह पर भी लगाया और फिर मुझे नीचे सुला कर अपना लंड मेरी चूत में डाल कर खूब चुदाई किया. फिर हम खूब रंग खेलने के बाद घर आ गए तो दोस्तों कैसी लगी मेरी स्टोरी.
     
Loading...

Share This Page