गांव गयी थी शादी में वहाँ मामा के लड़का

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by 007, Jan 9, 2018.

  1. 007

    007 Administrator Staff Member

    Joined:
    Aug 28, 2013
    Messages:
    138,786
    Likes Received:
    2,160
    http://raredesi.com मैं नैना 18 साल की kamukta जवान और खूबसूरत लड़की हूँ। कॉलेज में सभी लड़के मुझ पर फ़िदा रहते है, लेकिन मैंने कभी किसी को भाव नहीं दिया।
    मेरे मामा की लड़की की शादी थी और हम सब मतलब मेरे माँ - पापा और मैं गाँव चले गए, शादी को अभी 7 दिन बाकी थे, इसलिए ज्यादा मेहमान नहीं आये थे सिर्फ परिवार के लोग ही थे।
    मेरे मामा का लड़का सोनू मेरा बचपन से अच्छा दोस्त है, हम लोग मिल कर खुश हुए और उसी दिन घूमने के लिए बाइक से नदी किनारे चले गए वहाँ बैठ कर हमने बहुत बात की और गप्पे मारे, बचपन की सारी यादें ताजा हो गयी।

    दूसरे दिन मैं 9 बजे सो कर उठी और नहाने के लिए बाथरूम गयी लेकिन घर के अंदर वाले बाथरूम में मामी नहा रही थी और मुझे घर का दूसरा बाथरूम जो घर के पीछे कुए की पास था वहाँ जा कर नहाने को बोली। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम मैं जैसे उस बाथरूम के पास गयी दरवाजा बंद था मैं सोची माँ होगी क्यों की माँ मुझे घर में दिखाई नहीं दी थी।
    मैं दरवाजे के बीच के गैप देख कर जैसे ही आवाज देने वाली थी, अंदर का नजारा देख कर मेरी बोलती बंद हो गयी।

    अंदर मेरे मामा का लड़का सोनू नंगा नहा रहा था, सोनू नल चालू कर के निचे बैठा था और पानी की धार अपने लंड के ऊपर ले रहा था , उसका लंड खड़ा था मोटा लम्बा और काला, मैं अपनी जिंदगी में पहली बार अपने आखों के सामने किसी जवान लड़के का लंड देख रही थी। मैं जल्दी से दरवाजे के सामने से हट कर साइड हो गयी और सोनू के बाहर आने का इन्तजार करने लगी।

    थोड़ी देर बाद सोनू बाहर आया और मुझे देख कर बोला अरे नैना तू यहाँ क्यों खड़ी है? मैं बोली तेरे बाहर निकलने का इन्तजार कर रही थी मुझे भी नहाना है। उसके बाद मैं नहाने चली गयी लेकिन मुझे बार - बार सोनू का लंड याद आ रहा था, मैं नहाने के लिए अपने कपडे उतारने लगी और जब पेन्टी उतारी मेरी पेन्टी गीली थी चूत से पानी जैसा निकल रहा था। मैं समझ गयी मेरी चूत चुदवाने के लिए मचल रही है। मैं पोर्न मूवीज अपनी सहेलियों के साथ देख चुकी हूँ लेकिन इतना फील कभी नहीं हुआ जैसा आज हुआ था।

    दूसरे दिन फिर से वैसे ही सोनू नहा रहा था और मैं एक नजर सोनू को नहाते और उसके लंड को देख कर वही दरवाजे के पास खड़ी हो गयी, सोनू निकला और बोला जा नहा ले लेकिन साबुन खतम है अंदर जा कर माँ के मांग ले, मैं बोली सोनू तुम साबुन पंहुचा दो ना प्लीज, सोनू ठीक है बोल कर साबुन लेने चला गया। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

    मैं जल्दी से नंगी हो कर दरवाजा आधा खुला छोड़ कर नल के पास खड़ी हो गयी, सोनू आया और अंदर घुस गया ये ले साबुन। सोनू मुझे नंगी देख कर घबरा गया और बाहर निकल गया और बाहर जा कर बोला, sorry नैना दरवाजा खुला था मुझे पता नहीं चला तुम ऐसे अंदर हो,,, और सोनू वहाँ से चला गया।

    मैं बहुत खुश हुई मेरा प्लान बिल्कुल सही गया था, मैं जान बुझ कर अपनी नंगी जिस्म सोनू को दिखाना चाहती थी क्यों की सोनू से चुदवाने के लिए उसके अंदर मेरे लिए वासना जगाना जरुरी था। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
    उसी दिन दोपहर का खाना खाने के बाद मैं सोनू को बोली चलो छत पर चलते है हम दोनों वहाँ बैठ कर बातें कर रहे थे लेकिन सोनू अभी भी सर्मिन्दा था और मुझे फिर से बोला - नैना वो गलती से मैं आ गया था प्लीज किसी को कुछ मत बोलना। मैं बोली कोई बात नहीं सोनू हम दोनो बचपन के दोस्त है इतना चलता है, लेकिन मैं हिसाब बराबर कर के रहूंगी। सोनू बोला - कैसा हिसाब ? मैं बोली अच्छा नादान मत बन मुझे नंगी देख लिया है खुद को नहीं दिखाए गा ? तू नंगा हो का मुझे दिखा उसके बाद हिसाब बराबर होगा।

    सोनू थोड़ा घबरा गया क्यों की उसने मेरे मुँह से ऐसे बातों की उम्मीद बिल्कुल भी नहीं की थी।
    सोनू बोला ठीक है लेकिन घर में सब है। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
    मैं बोली वो कच्चे का घर जहाँ धान की बोरियां रखी हुई है वही चलते है वहाँ अभी कोई नहीं आएगा।
    सोनू के पापा किसान है और धान की खेती करते है, उनका आधा घर पक्का और आधा कच्ची खप्पर वाली है वही धन की बोरियां स्टोर की जाती है।

    हम दोनों वहाँ गए पूरा अँधेरा था सोनू बल्ब चालू किया और हम दोनों बोरों के पीछे चले गए।
    मैं बोली जल्दी कर शर्मा मत वैसे भी तूने मुझे पूरी नंगी देखा है जल्दी कर। सोनू शर्मा रहा था क्यों की उसका लंड इतने देर में खड़ा हो गया था। सोनू अपनी कपडे निकाल दिया और सिर्फ अंडरवेअर में खड़ा था मैं बोली इसको भी निकल मैन पार्ट तो यही है। सोनू बोला नहीं यार वो तुमको देख कर मेरा खड़ा हो गया है मैं उतार रहा हूँ। सोनू अपना अंडरवेअर उतार दिया और उसका लंड पूरा खड़ा था।
    सोनू के लंड की टोपी खुली थी और उसका गुलाबी सुपाड़ा दिखाई दे रहा था सायद सोनू अपना लंड ऐसे ही खुला सुपाड़ा कर के रखता है, मैं आप को बता दूँ सोनू मुझ से 1 साल बड़ा है और उसकी बॉडी बहुत अच्छी है।

    सोनू पूरा नंगा खड़ा था बल्ब की रौशनी में मुझे उसका नंगा बदन और उसका गुलाबी लंड साफ़ दिखाई दे रहा था। अब सोनू बोला तुमने देख लिया ना लेकिन हिसाब ऐसे बराबर नहीं होगा अब तू भी कपडे निकाल मैं तुझे एक बार और नंगी देखना चाहता हूँ आज बाथरूम में सिर्फ एक झलक ही दिखा था।
    मैं मान गयी क्यों की मैं तो पहले ही चुदवाने की प्लान बना कर आयी थी। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

    मैं अपने कपडे उतार कर पूरी नंगी हो गयी सोनू मुझे ऊपर से निचे तक घूर के देखने लगा। उसकी नजर मेरी गोरे बदन के हर हिस्से पर थी मेरी चुत बूब्स को वो ऐसे देख रहा था जैसे ये उसका पहला अनुभव हो किसी लड़की को नंगी देखने का। मैं बोली क्या हुआ कभी किसी लड़की को नंगी नहीं देखा क्या? सोनू बोला नहीं यार सिर्फ ब्लू फिल्म में देखा हूँ, मैं बोली मैं भी पहली बार देख रही हूँ किसी लड़का को नंगा।

    आगे की कहानी पार्ट 2....
     
Loading...

Share This Page