आंटी के बाद उसकी बहन की चुदाई

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by 007, Jan 8, 2017.

Tags:
  1. 007

    007 Administrator Staff Member

    Joined:
    Aug 28, 2013
    Messages:
    120,355
    Likes Received:
    2,114
    http://raredesi.com हेलो दोस्तों मेरा नाम अंकित हे और में वापस आया हु अपनी एक नयी चुदाई की स्टोरी लेकर. और में उसमे आपको बताऊंगा की मैने केसे मेरी आंटी के कहने पर उनकी बहन की प्यास बजाई और और में उन दोनों बहनों की सेक्स की भूखह आज भी शांत कर रहा हु और वह दोनों आज मुझसे बहोत ही खुश हे.

    तो चलिए अब देर न करते हुए अब कहानी की शुरुवात करते हे.

    मैने अपने बचपन के दोस्त भास्कर की माँ पूनम की चुदाई की और उनको अपनी रखेल बनाया और यह सिलसिला आज भी चल रहा हे.

    तो हुआ यु की एक दिन में और पुनम सेक्स कर रहे थे और उसके बाद ऐसे ही साथ में लेते हुए थे और बाते कर रहे थे और हम दोनों एकदम नंगे थे. और तब उसने ऐसा कुछ कहा जिससे मेरा दिल एकदम ख़ुशी से जमने लगा था.

    पूनम : जानू आज बहोत मजा आ गया.

    में : वो तो हमेशा आता हे डार्लिंग तुम्हारी चुत में इतना मजा हे की जितना मिले उतना कम ही होता हे. और मुझे तुमसे प्यार कर कर के मेंरा मन कभी भी नही भरता हे

    वह : अगर ये मजा दुगना हो जारे तो कैसा रहेगा?

    में : में कुछ समजा नहीं तुम क्या कहना चाहती हो? अब मेरे मन में भी लड्डू फुट रहे थे की यह अब मुझे कोन सा नया मजा देने वाली हे की जिसे पाकर में बहोत ही खुश हो जाऊँगा

    पूनम : अगर हमारे साथ एक और इंसान जुड़ जाए तो हम दोनों को और भी मजा आ जाएगा.

    मैं : अरे यह तुम क्या बोल रही हो पागल तो नही हो गयी हो ना? अगर कोई तीसरे को यह बात पता चल गई तो बहार के लोगो को भी यह बात पता चलने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा. और अगर बहार के लोगो को पता चल गई तो हमारी क्या हालत हो सकती हे यह तुम्हे कुछ पता भी हे या नहीं?

    पूनम : उसकी टेंशन मत लो डार्लिंग वह इंसान कोई और नहीं हे और उसे तुम भी अच्छी तरह से जानते हो वह मेरी छोटी बहन है सोनल.

    में तो यह सुन कर मन ही मन में बहोत ही ज्यादा खुश हो गया था क्योंकि मैंने उनसे पहले मिल चुका हूं और वह आंटी से भी ज्यादा सुंदर है.

    चलिए आपको सोनू के बारे में थोड़ी बात बता दूं जिस से आप लोगो को कहानी में मजा आ जाये.

    सोनल की उम्र यही कोई 38-39 के आस पास होगी. उसका रंग दूध से भी ज्यादा गोरा मतलब हाथ लगाओ तो मैला हो जाए ऐसा था. और किसी भी २३-२४ साल की लड़की की तरह सुंदरता उनके सामने एकदम बेकार हो जाये. और उसका फिगर जो कि एक बार देख ले उसका लंड तुरंत खड़ा हो जाए और उसको देख कर तो मुडदे का भी लंड खड़ा हो जाये वह ऐसी सुंदर नारी हे.

    उसका फिगर ४२-३४-४२ का था और उसकी गांड तो मुझे बहोत ही ज्यादा पसंद आती थी. में जब भी उसको देखता था तब मेरी नजर सब से पहले उसकी गांड पर ही जाती थी और में हमेशा से उसकी गांड को चोदना चाहता था. और आज मेरा इंतजार ख़त्म होता दिख रहा था और मेरे मन में भी अब उसको चोदने के सपने आने लगे थे.

    में : वह तो ठीक है पर वह मानेगी कैसे? मुझे नहीं लगता कि वह मेरे साथ कभी सेक्स के लिए राजी होगी.

    पूनम : अरे मैंने उसको हमारे बारे में सब बता दिया है और वह अब हमारे साथ सेक्स करने के लिए एकदम पूरी तरह से रेडी है क्योंकि उसका पति उसकी हवस नहीं मिटा पाता है और उसने रोते हुए मुझे सब बताया तो मैंने उसको सब बता दिया की में भी केसे अपने पति से संतुष्ट नहीं होती थी और में पिछले चार साल से तुम्हारे पास आ कर मेरी भूख को मिटा रही हु और मैने उसे यह भी बताया की तुम में इतनी ताकत हे की तुम एक साथ दो ओरतो की भूख को भी आसानी से मिटा सकते हो और मुझे तुम पर पूरा भरोसा हे. मैने उसे यह भी समजाया हे की तुम्हारे साथ सेक्स कर के उसकी हवस तो शांत हो ही जाएगी और यह बात कभी किसी को बहार पता नहीं चल पायेगी क्योंकि में तुम्हारे साथ इतने सालो से सेक्स कर रही हु और तुम मुझे संतुष्ट का देते हो और यह बात कभी बहार नहीं गई हे. और अब वह जल्द से जल्द हमारे साथ जुड़ना चाहती है

    में : चलो फिर तो कोई दिक्कत नहीं है. जब आप रेडी हो तो मैं भला आपकी बहन को खुश करने के लिए मना कैसे कर सकता हूं?

    इसके बाद हमने फिर से सेक्स करना शुरु कर दिया. और अगले 1 घंटा 30 मिनट चला जिसमें पूनम ने तीन बार पानी छोड़ा था और मैं दो बार झड़ चुका था. और एक बार मैंने अपना माल उनकी चूत में छोड़ दिया और दूसरी बार उनकी गांड में. और फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों किस करने लगे और में अपने बदन को साफ कर के मेरे कपडे पहन कर मेरे घर वापस आ गया.

    कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा और मुझे अब बेसब्री से सोनल के आने का इंतजार था और में अब हर रोज रात को सपने देखने लगा था की मैं कैसे उस को भोगूँगा और उसकी सारी इच्छा को पूरी कर दूंगा.

    तभी मुझे पुनम का एक दिन व्हाट्सआप पर मैसेज आया.

    पूनम : गुड न्यूज़ है

    में : क्या हुआ?

    फिर जो उन्होंने बताया वह सुन के तो मुझे बस मजा आ गया.

    पूनम : सोनल के हस्बैंड का ट्रांसफर इको में हो गया है अब वह भी यही रहेगी हमारे साथ.

    पूनम आंटी का घर पड़ा था तो कोई दिक्कत भी नहीं थी. बस मैं तो अब उनके आने का इंतजार कर रहा था.

    और १५ दिन के बाद उसकी फैमिली यहां शिफ्ट हो गई. और बस हमें मौके की तलाश थी. और चार दिन बाद हमें मौका मिल गया.

    उन दोनों के हस्बैंड काम के चलते टूर पर गए थे और हमारे पास 5 दिन का समय था.

    आंटी का फोन आया मेरे पास रात को 1:00 बजे

    पूनम : कल ठीक 11:00 बजे आ जाना घर डार्लिंग मौज करेंगे तीनों मिल के.

    मैं : तैयार रहना दोनों बहने. कल दोनों पर कोई रहम नहीं किया जाएगा.

    पूनम : वह तो मैं जानती हूं डार्लिंग, तू भी मरा जा रहा हे उसके लिए..

    और यह बात कर के हम दोनों गुड नाइट बोलकर सो गए. पर मुझे तो अब ख़ुशी के मारे नींद भी नहीं आ रही थी और में उसके सपने देखने लगा की में उसे किस किस तरह से चोदुंगा. और फिर मुझे धीरे धीरे नींद आने लगी और में सो गया.

    अगले दिन मैं सुबह पहुंचा तो देखा वह दोनों येलो और ग्रीन साड़ी में सेक्सी लग रही थी और सोनल कुछ शरमा रही थी.

    पूनम : आओ अंकित बैठो. बताओ क्या करना है?

    मैं : करना क्या है? बस आप सेवा का मौका दो बाकी तो आप को सब पता है.

    मैं उठा और जाकर पूनम को अपने पास खींच लिया और शुरू हो गया हमारा प्रेम मिलन

    हम दोनों किस कर रहे थे सोनल के सामने और वह 1 मिनट तो देखती रह गई फिर दीदी थोड़ी तो शर्म करो बोल के रूम में चली गई, और खिड़की से छुप के देखने लगी.

    हम दोनों नहीं रुके और 2 घंटे तक हमारी प्रेमलीला चलती रही जिसमें मैंने उनको पूरा नंगा करके और चोदा और गांड मार कर शांत कर दिया.

    थोड़ी देर बाद पूनम उठी और बिना कपड़ों के बाहर गई और बहन को धक्का दे कर बोली

    पूनम : चलो अब शर्माना छोड़ो और जाओ मजे लो.

    दरवाजा बाहर से बंद करके चली गई फ्रेश होने

    मैं : सोनू आंटी मैंने आपको देखा, आप चुप के से हमें देख रही थी, पर अगर आपका मन नहीं है तो में कुछ नहीं करूंगा.

    वह ५ मिनट बिना कुछ बोले बैठी रही

    सोनल : अंकित मैं चाहती हूं कि मुझे भी खुशी मिले लेकिन मुझे डर लगता है कि कहीं कुछ गलत ना हो जाए.

    मैं : कुछ नहीं होगा सोनल आंटी आपको शायद नहीं पता लेकिन आज मुझे और आपकी बहन को सेक्स करते हुए 4 साल से ज्यादा हो गया और हम दोनों खुश है कोई दिक्कत नहीं है सब अच्छे से चल रहा है

    सोनल : कुछ देर सोचने के बाद अच्छा चलो ठीक है मैं रेडी हूं पर वादा करो कि कभी कोई कमी नहीं करोगे मुझे प्यार करने में.

    मैं : सोनल को करीब खींचते हुए पक्का कोई शिकायत नहीं होगी.

    फिर तुरंत मैंने उसके और अपने होंठ आपस में जोड़ दीए और हम एक-दूसरे को १५ मिनट बिना रुके किस करते रहे.

    सोनल सच में मजा आ गया दीदी सच बोलती है तुझ में जरुर कुछ है ऐसा जिसके लिए कुछ भी करो कम है,

    इतना सुनते ही मुझे जोश आ गया और मैंने उनकी ग्रीन साड़ी उतारना शुरू कर दी और अगले 5 मिनट में हम दोनों के बदन पर एक कपड़ा नहीं था

    उनको किस करते हुए मैं उनकी नेक को किस करने लगा और उनके बूब्स पे आ गया और उन 42 के बूब्स को चूसने और काटने लगा. वह भी अब गरम होने लगी और उसने भी मेरा 6 इंच का लंड हाथ में ले लिया और हिलाने लगी.

    उसके बाद उसने मेरा लंड अपनी विशाल चुचियो के बिच में दबाया और ऊपर नीचे करने लगी कसम से दोस्तों कभी ट्राई करना बहुत मजा आ जाएगा.

    आधा घंटा ऐसे करने के बाद मेरा माल उसके बूब्स पर छूट गया और उन्होंने अपने बूब्स पर उस की मालिश कर ली.

    उसके बाद किस करते हुए में नीचे बढ़ता हुआ उसकी चूत पर पहुंचा और १५ मिनट करने के बाद वह भी झड़ गई और मैं उनका अमृत पी गया.

    सोनल : कसम से अंकित मेरे उस नल्ले पति ने आज तक कभी ऐसा नहीं किया. सच में दीदी सच बोलती है तुजसे मन नहीं भरता.

    कुछ देर बाद हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए और दोनों एक दूसरे को चूस और चाट के गर्म कर रहे थे. थोड़ी देर बाद मैंने सोनल को बेड पर सीधा लिटाया और दोनों पैर कंधे पर रख कर एक धक्का लगाया लेकिन अंदर नहीं गया.

    सोनल : मेरा पति सच में नल्ला है उसका लंड ३.५ इंच का है जो शायद ही कभी खड़ा होता है और पिछले 2 साल से हाथ तक नहीं लगाया उस भडवे ने मुझे.

    मैं : टेंशन मत लो बाबा, मैं हूं ना तुम्हारे लिए अब.

    फिर दोबारा कोशिश करने पर इस बार मेरा लंड अंदर चला गया और वह जोर से रोने लगी.

    सोनल : प्लीज स्टॉप मुझसे नहीं होगा बहुत दर्द हो रहा है. प्लीज लीव मी मुझसे नहीं सहा जा रहा हे.

    किस करते हुए मैंने उसे शांत करवाया और १० मिनट के बाद दूसरा धक्का मारा इस बार मेरा लंड पूरा अंदर जाकर सीधा उसकी बच्चेदानी पर लगा. और वह चीख नहीं पाई क्योंकि उसके होठ मेरे होठो से बंद थे.

    १० मिनट बाद वह नोर्मल हुई और फिर मैंने धक्के लगाना शुरु किया और वह भी नीचे से साथ दे रही थी.

    सोनल : रुकना मत बाबू, मजा आ रहा है और तेज करो ऐसा बोल रही थी जिसके चलते मैंने धीरे धीरे धक्के की स्पीड बढ़ाई.

    २० मिनट के बाद एक दम से वह जड गई और निढाल पड गई और मैं भी रुक गया. ५ मिनट बाद वह खुद बोली

    सोनल : सच में मजा आ गया. दीदी की तरह आज से में हमेशा के लिए तुम्हारी हो गई हूं, आई लव यू अंकित.

    वह फिर से गर्म होने लगी और मेरा अभी बाकी था सो मैंने उसकी गांड मारने की इच्छा जाहिर की. पहले वह मना करती रही लेकिन मेरे और पूनम के बहुत समझाने पर वह राजी हो गई तो फाइनली उसको डौगी पोज में करके मैंने पूरा दम लगा के मैंने अपना पूरा लंड एक ही बार में उसकी गांड में डाल दिया.

    वह इतनी जोर से चीखी कि मैं रुक गया और उस को शांत करवाने लगा और उसकी गांड से खून भी बह रहा था.

    १५-२० मिनट के बाद वह अपनी कमर हिलाने लगी.

    फिर क्या था मैंने भी धीरे धीरे स्पीड बढाता गया और 40 मिनट बाद उसकी गांड में जड गया जिसकी गर्मी से वह अब तीसरी बार जड गई.

    अब हम नंगे थे रूम में और बात कर रहे थे के तभी हमें थ्रीसम का आईडिया आया. फिर हम तीनों शुरू हो गए और मैंने उन दोनों को साथ लेट गया और अगले ३ घंटो में मैंने उन दोनों को दो बार कायदे से चोदा और गांड भी मारी.

    सोनल ब्लोजोब इतना अच्छा नहीं दे पा रही थी लेकिन कुछ अलग ही बात थी उसमें.

    अगले ५ दिन हमने इतना सेक्स किया की सोनल और हमारी सारी शरम खत्म हो गई.

    और वह दोनों इतनी हॉट हे की कभी मन नहीं भरता और वह मुझे अपने पतियों से ज्यादा प्यार करती है.

    अब जब मौका मिलता है हम तीनो सेक्स करते हे और खुश रहते हैं.
     

Share This Page